Wednesday, 27 June 2018

अनसीन मैसेज - Unseen Massage

अनसीन मैसेज - Unseen Massage

वक़्त ही वक़्त है जब पास उसके मेरे लिए,
इतनी रातों से फिर क्यूँ अनसीन पड़ा है मैसेज

-राकेश"राज"

Waqt hi waqt hai jab paas usake mere liye,
Itanee raaton se phir kyuu Unseen pada hai Massage 

-Rakesh"Raj"
Post a Comment