Saturday, 30 June 2018

Love Shayari, तुम्हारा कॉल - TUMHARA CALL, वो ताल्लुक़ WO TAALLUK

Love Shayari

तुम्हारा कॉल - TUMHARA CALL

love shayari तुम्हारा कॉल - TUMHARA CALL
Love Shayari तुम्हारा कॉल - TUMHARA CALL
कई दिनों से यही
मसअला है साथ मेरे,
कि तुम्हारा कॉल जो आए
तो नेटवर्क चला जाता है
-राकेश"राज"

KAI DINO SE YAHI
MASLAA HAI SATH MERE,
KI TUMHARA CALL JO AAYE
TOH NETWORK CHALA JATA HAI
-Rakesh"Raj"

वो ताल्लुक़ भी क्या ताल्लुक़ है
फ़ोन तक जो सिमट के रह जाए
-राकेश"राज"

WO TAALLUK BHI KYA TAALLUK HAI
PHONE TAK JO SIMAT KE RAH JAYE
-Rakesh"Raj"

No comments: