Friday, 8 June 2018

शराफ़त - Sharafat

सबसे बड़ी ये आपकी ग़लतफ़हमी है जनाब,
कि अब भी है जहां में शराफ़त बची हुई

-राकेश
"राज"

Sabse badi ye aapki galatfahami hai janab..
Ki ab bhi hai jahaan me Sharafat bachi hui....

-Rakesh"Raj"

No comments: