Saturday, 23 March 2019

Best Hindi Quotes, 2 Line Urdu Poetry

Best Hindi Quotes

2 Line Urdu Poetry

best hindi quotes, 2 line urdu poetry
Best Hindi Quotes, 2 Line Urdu Poetry
मैं हुआ मसरूफ ख़िदमत में
ज़रा माँ बाप की,
तो मुझे ख़ुद ढूँढते
भगवान मुझ तक आ गए

MAIN HUAA MASHROOF KHIDMAAT ME
ZARAA MAA BAAP KI,
TOH MUJHE KHUD DHUNDHTE
BHAGWAAN MUJH TAK AA GAYE

Best Hindi Quotes, 2 Line Urdu Poetry , shayari
Best Hindi Quotes, 2 Line Urdu Poetry
अच्छा तो घूम आए तुम
कूचा-ए-यार से
दिख तो रहे हैं
पाँव में छाले बने हुए

ACHCHA TOH GHOOM AAYE TUM
KOOCH-E-YAAR SE
DIKH TOH RAHE HAI PAAV MAIN
CHAALE BANE HUYE

Best Hindi Quotes, 2 Line Urdu Poetry , shayari
Best Hindi Quotes, 2 Line Urdu Poetry
पराए दर्द को समझा है हमने
हमीं शायर बनेंगे देख लेना

PARAAYE DARD KO SAMJHA HAI HUMNE
HUMHI SHAYAR BANENGE DEKH LENA

Sunday, 10 March 2019

FUNNY SHAYARI IN HINDI - OFFICE MAIN

FUNNY SHAYARI IN HINDI
(ऑफिस में)
FUNNY SHAYARI IN HINDI - OFFICE MAIN

ऑफिस में बस नाम की अर्जी होती है
बाक़ी सब साहब की मर्ज़ी होती है
कुछ लोगों के नम्बर सच्चे होते हैं
कुछ की डिग्री एकदम फर्जी होती है
कुछ लोगों का सच बिन काम नहीं चलता
और कुछ को सच से एलर्जी होती है

✍️ - राकेश"राज"

Wednesday, 20 February 2019

शेऱ-ओ-शायरी इतवार - Sher o sharayi Itawaar

इतवार - ITAWAAR

Sher o shaayari itavaar
रोज़ रोज़ आकर मुझ तक
बेशक़ वो भी थक जाती हैं
तो क्यूँ न तुम्हारी यादों को
इतवार की छुट्टी दी जाए

-राकेश"राज"

ROZ ROZ AAKAR MUJH TAK
BESHAQ WO BHI THAK JAATI HAIN
TO KYUN NA TUMHARI YAADON KO
ITAWAAR KI CHUTTI DI JAYE

-Rakesh"Raj"
----------------------------------------------------------------------
वो तो कुछ यार चले आते हैं
मिलने वरना
पिछले इतवार से
बीमार पड़े हैं हम तो

-राकेश"राज"

Saturday, 15 December 2018

Hindi Gazal, Hum Pehle-हम पहले

ग़ज़ल
हम पहले

Hindi Gazal
यूँ लुभाते थे
उसको हम पहले
खूब भाते थे
उसको हम पहले

वो मुसीबत में
जब भी होता था
याद आते थे
उसको हम पहले

Saturday, 1 December 2018

GAZAL, MOHABBAT KI HAWA KA ASAR DEKHIYE

ग़ज़ल

मोहब्बत की हवा का असर देखिये

GAZAL
MOHABBAT KI HAWA KA ASAR DEKHIYE

GAZAL, MOHABBAT
GAZAL, MOHABBAT KI HAWA KA ASAR DEKHIYE
ग़ज़ल
मोहब्बत की हवा का असर देखिये
मेरे कान्धे पे है उनका सर देखिये

सारे शिक़वे गिले दूर हो जाएंगे
प्यार से आप बस इक नज़र देखिये

ख़ूब मशहूर शोलाबयानी को था
जल रहा है ना वो जिसका घर देखिये